उत्तर प्रदेश जालौन

जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा का शिकार हो रहा मिर्जापुरा जागीर मार्ग

उरई (जालौन)(गोविंद सिंह दाऊ):- । रामपुरा विकास खण्ड क्षेत्र के अंर्तगत पड़ने वाला ग्राम मिर्जापुरा जागीर व उससे जुड़े ग्रामीण अंचलों की सड़क बहुत ही बदसेबदतर हालत में नजर आने लगी हैं बीहड़ इलाकों के सबसे आखिरी गांव कि हालत तो यह है कि सड़क पर पैदल चलना भी बहुत ही मुश्किल हो गया है। इस जर्जर सड़क से निकलने वाले ग्रामीण आए दिन फिसल कर चोटिल हो जाते हैं यह मार्ग कस्बा रामपुरा को जाने को महत्वपूर्ण माना जाता है

ग्रामीणों के द्वारा कई बार मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत करने के बाबजूद और अधिकारियों की उदासीनता के होने के काला एक साल होने को है परंतु सड़क दलदल बनी हुई है और पीडब्ल्यूडी विभाग के अंतर्गत होने के कारण ग्राम प्रधान ने इसका निर्माण करवाने के लिए हाथ खड़े कर दिए हैं ग्रामीणों की मांग है कि सड़क सही करायी जाये और सड़क के किनारे नाली बनी न होने के कारण तो पानी सड़क पर आ जाता है और समूची सड़क दलदल में तब्दील हो गयी है।इसी सड़क के अन्दर घुस कर ग्रामीणों को कस्बा रामपुरा तक का सफर तय करना पड़ रहा।ग्रामीणों का कहना है कि अगर इस जर्जर सड़क का निर्माण समय रहते नहीं करवाया जाता है तो इसका खामियाजा आने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी को भुगतना पड़ सकता है।

Leave a Reply