Kharna: Jaggery pudding made on the stove of the soil, offered to Chhath Maiya

ख़बर सुनें

मथुरा। लोक आस्था का पर्व छठ पूजा का दूसरा दिन खरना के रूप में मनाया गया। लोक परंपराओं के अनुसार खरना को व्रतियों ने उपवास किया। शाम को पूजन उपरांत प्रसाद के रूप में गुड़ की बनी खीर (जाऊर) खाया। इसी के साथ ही 36 घंटे के निर्जला व्रत की शुरुआत हो गई।
धर्म नगरी में छठ पूजन को लेकर पूर्वांचल से जुडे़ लोगों में उत्साह है। चार दिवसीय इस पर्व के दूसरे दिन खरना की पंरपरा निभाई गईं। खरना में माटी के चूल्हे पर नए बर्तन में गुड़ और चावल से व्र्रत करने वाली महिलाओं ने घरों में खीर बनाई। इसके अलावा गुड़ की पूड़ियां, सादी रोटी, विभिन्न तरह की मिठाइयां और सीजन के फल को केले के पत्तों पर छठ मैया के लिए प्रसाद निकालकर पूजा अर्चना की गई। इस दौरान छठ से जुडे़ गीत महिलाओं ने गाए। छठ मैया को भोग लगाने के बाद व्रतियों ने इसी प्रसाद को ग्रहण किया। पूरे दिन में यही व्रती का आहार रहा। इस पवित्र भोजन को ग्रहण करने के बाद व्रतियों का अगले 36 से 40 घंटे तक के लिए उपवास शुरू हो गया। यह व्रती अब सोमवार को उगते सूर्य को अर्घ्य देने तक जमीन पर ही सोएगी।
मथुरा। चार दिवसीय छठ महोत्सव के दो दिन हो चुके हैं। अब घाटों पर सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। इसे लेकर तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। मथुरा के साथ वृंदावन के विभिन्न घाटों पर व्यवस्थाएं की जा रही हैं।
इस बार रिफाइनरी टाउनशिप, कोयला घाट और अड्डाघाट के साथ वृंदावन में छठ मनाने वाले लोगों की एकजुटता देखने को मिल रही है। विश्राम घाट के साथ नगर निगम ने वृंदावन के युगल घाट, केशीघाट एवं चामुंडा घाट की सफाई कराई है। समिति के सचिव दिनेश सिंह व सांस्कृतिक मंत्री जयराम सिंह ने बताया कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन अड्डा घाट पर ही किया जाएगा। अड्डा घाट पर सफाई सहित अन्य व्यवस्थाओं का जायजा प्रेम चौधरी,ब्रजेश चौधरी,योगेंद्र सिंह,परमहंस सिंह, अभय शुक्ला, लखन साहनी, चंदन पाण्डेय, जयबहादुर सिंह, हीरालाल चौरसिया, आरपी सिंह, राजपति यादव, महेंद्र भगत, संतोष सिंह, अवन्ति कुमार सिंह, अंबुज शर्मा, विष्णु यादव, किशोर कुमार, पियूष राव ने लिया।
इसके अलावा कोयला घाट पर भारतीय सांस्कृतिक समाज ने व्यवस्थाएं संभाली। मीडिया प्रभारी शशी भूषण दुबे ने बताया कि घाट पर जेसीबी से समतल किया गया। सफाई की गई। पूजा अर्चना की व्यवस्था की गई। इस दौरान महेश शर्मा, नंद किशोर, एस एन दुबे, प्रेम ,नंद किशोर शाह, नितेश, राहुल, योगेश राय, रमन, जितेंद्र नाथ झा, हरेराम राय, दिनेश लाल, भारत महतो, कामेश्वर पाठक, रविंद्र सिंह, पीयूष आदि का मौजूद रहे।

मथुरा। लोक आस्था का पर्व छठ पूजा का दूसरा दिन खरना के रूप में मनाया गया। लोक परंपराओं के अनुसार खरना को व्रतियों ने उपवास किया। शाम को पूजन उपरांत प्रसाद के रूप में गुड़ की बनी खीर (जाऊर) खाया। इसी के साथ ही 36 घंटे के निर्जला व्रत की शुरुआत हो गई।

धर्म नगरी में छठ पूजन को लेकर पूर्वांचल से जुडे़ लोगों में उत्साह है। चार दिवसीय इस पर्व के दूसरे दिन खरना की पंरपरा निभाई गईं। खरना में माटी के चूल्हे पर नए बर्तन में गुड़ और चावल से व्र्रत करने वाली महिलाओं ने घरों में खीर बनाई। इसके अलावा गुड़ की पूड़ियां, सादी रोटी, विभिन्न तरह की मिठाइयां और सीजन के फल को केले के पत्तों पर छठ मैया के लिए प्रसाद निकालकर पूजा अर्चना की गई। इस दौरान छठ से जुडे़ गीत महिलाओं ने गाए। छठ मैया को भोग लगाने के बाद व्रतियों ने इसी प्रसाद को ग्रहण किया। पूरे दिन में यही व्रती का आहार रहा। इस पवित्र भोजन को ग्रहण करने के बाद व्रतियों का अगले 36 से 40 घंटे तक के लिए उपवास शुरू हो गया। यह व्रती अब सोमवार को उगते सूर्य को अर्घ्य देने तक जमीन पर ही सोएगी।

मथुरा। चार दिवसीय छठ महोत्सव के दो दिन हो चुके हैं। अब घाटों पर सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। इसे लेकर तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। मथुरा के साथ वृंदावन के विभिन्न घाटों पर व्यवस्थाएं की जा रही हैं।

इस बार रिफाइनरी टाउनशिप, कोयला घाट और अड्डाघाट के साथ वृंदावन में छठ मनाने वाले लोगों की एकजुटता देखने को मिल रही है। विश्राम घाट के साथ नगर निगम ने वृंदावन के युगल घाट, केशीघाट एवं चामुंडा घाट की सफाई कराई है। समिति के सचिव दिनेश सिंह व सांस्कृतिक मंत्री जयराम सिंह ने बताया कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन अड्डा घाट पर ही किया जाएगा। अड्डा घाट पर सफाई सहित अन्य व्यवस्थाओं का जायजा प्रेम चौधरी,ब्रजेश चौधरी,योगेंद्र सिंह,परमहंस सिंह, अभय शुक्ला, लखन साहनी, चंदन पाण्डेय, जयबहादुर सिंह, हीरालाल चौरसिया, आरपी सिंह, राजपति यादव, महेंद्र भगत, संतोष सिंह, अवन्ति कुमार सिंह, अंबुज शर्मा, विष्णु यादव, किशोर कुमार, पियूष राव ने लिया।

इसके अलावा कोयला घाट पर भारतीय सांस्कृतिक समाज ने व्यवस्थाएं संभाली। मीडिया प्रभारी शशी भूषण दुबे ने बताया कि घाट पर जेसीबी से समतल किया गया। सफाई की गई। पूजा अर्चना की व्यवस्था की गई। इस दौरान महेश शर्मा, नंद किशोर, एस एन दुबे, प्रेम ,नंद किशोर शाह, नितेश, राहुल, योगेश राय, रमन, जितेंद्र नाथ झा, हरेराम राय, दिनेश लाल, भारत महतो, कामेश्वर पाठक, रविंद्र सिंह, पीयूष आदि का मौजूद रहे।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: