ख़बर सुनें

अमेठी। शहर स्थित सीएचसी पर तैनात एनसीडी एलटी की प्रयागराज के स्वरूपरानी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। एलटी दीपावली अवकाश पर परिवार के साथ घर गए थे। परिजनों के अनुसार एलटी डेंगू पॉजिटिव हो गए थे और प्लेटलेट्स कम हो गईं थीं। स्वास्थ्य कर्मी की डेंगू से मौत का मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य कर्मियों में शोक की लहर है।
प्रयागराज शहर निवासी हिमांशु कुमार सिंह (29) की तैनाती करीब पांच वर्ष पूर्व शहर स्थित सीएचसी पर एनसीडी (गैर संचारी रोग) एलटी ( लैब टेक्नीशियन) के पद पर हुई थी। हिमांशु सिंह दीपावली अवकाश होने पर शनिवार को ड्यूटी समाप्त होने के बाद पत्नी व बच्चों के साथ अपने घर प्रयागराज गए थे।
सीएचसी पर तैनात स्वास्थ्य कर्मियों के अनुसार हिमांशु के परिजनों ने बताया कि प्रयागराज पहुंचने के बाद हिमांशु डेंगू पॉजिटिव हो गए और उनकी प्लेटलेट्स तेजी से कम होने लगीं। इस पर उन्हें प्रयागराज स्थित स्वरूपरानी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां हिमांशु की प्लेटलेट्स लगातार गिरती गईं और बुधवार दोपहर 3:30 बजे इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।
देर शाम सीएचसी पर तैनात अधिकारियों एवं कर्मचारियों को मामले की जानकारी हुई। डेंगू से स्वास्थ्य कर्मी की मौत की सूचना मिलते ही साथियों में शोक की लहर दौड़ गई। सीएचसी अधीक्षक डॉ. सौरभ सिंह ने बताया कि एनसीडी के तहत एलटी पद पर तैनात हिमांशु शनिवार को ड्यूटी करने के बाद परिवार के साथ घर गए थे। बुधवार देर शाम उनके निधन का समाचार मिला। हिमांशु के निधन की सूचना के बाद गुरुवार सुबह सीएचसी में शोक सभा कर स्वास्थ्य कर्मियों ने दो मिनट का मौन रख दिवंगत आत्मा के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।
मासूम के सिर से उठा पिता का साया
हिमांशु सिंह की शादी दो वर्ष पूर्व हुई थी। उनकी छह माह की एक बेटी भी है। मृतक हिमांशु के पिता भी स्वास्थ्य महकमे में तैनात हैं। घटना से पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं बेटी के सिर से पिता का साया उठ गया।
एक और स्वास्थ्य कर्मी का निधन
शहर के रायपुर फुलवारी निवासी रामजस कनौजिया (53) सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में वाटर मैन के पद पर तैनात थे। रामजस काफी दिनों से किडनी व अन्य बीमारी से पीड़ित थे। उनका इलाज चल रहा था। गुरुवार सुबह अचानक उनकी तबीयत ज्यादा खराब हुई उन्हें जिला चिकित्सालय ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

अमेठी। शहर स्थित सीएचसी पर तैनात एनसीडी एलटी की प्रयागराज के स्वरूपरानी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। एलटी दीपावली अवकाश पर परिवार के साथ घर गए थे। परिजनों के अनुसार एलटी डेंगू पॉजिटिव हो गए थे और प्लेटलेट्स कम हो गईं थीं। स्वास्थ्य कर्मी की डेंगू से मौत का मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य कर्मियों में शोक की लहर है।

प्रयागराज शहर निवासी हिमांशु कुमार सिंह (29) की तैनाती करीब पांच वर्ष पूर्व शहर स्थित सीएचसी पर एनसीडी (गैर संचारी रोग) एलटी ( लैब टेक्नीशियन) के पद पर हुई थी। हिमांशु सिंह दीपावली अवकाश होने पर शनिवार को ड्यूटी समाप्त होने के बाद पत्नी व बच्चों के साथ अपने घर प्रयागराज गए थे।

सीएचसी पर तैनात स्वास्थ्य कर्मियों के अनुसार हिमांशु के परिजनों ने बताया कि प्रयागराज पहुंचने के बाद हिमांशु डेंगू पॉजिटिव हो गए और उनकी प्लेटलेट्स तेजी से कम होने लगीं। इस पर उन्हें प्रयागराज स्थित स्वरूपरानी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां हिमांशु की प्लेटलेट्स लगातार गिरती गईं और बुधवार दोपहर 3:30 बजे इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

देर शाम सीएचसी पर तैनात अधिकारियों एवं कर्मचारियों को मामले की जानकारी हुई। डेंगू से स्वास्थ्य कर्मी की मौत की सूचना मिलते ही साथियों में शोक की लहर दौड़ गई। सीएचसी अधीक्षक डॉ. सौरभ सिंह ने बताया कि एनसीडी के तहत एलटी पद पर तैनात हिमांशु शनिवार को ड्यूटी करने के बाद परिवार के साथ घर गए थे। बुधवार देर शाम उनके निधन का समाचार मिला। हिमांशु के निधन की सूचना के बाद गुरुवार सुबह सीएचसी में शोक सभा कर स्वास्थ्य कर्मियों ने दो मिनट का मौन रख दिवंगत आत्मा के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

मासूम के सिर से उठा पिता का साया

हिमांशु सिंह की शादी दो वर्ष पूर्व हुई थी। उनकी छह माह की एक बेटी भी है। मृतक हिमांशु के पिता भी स्वास्थ्य महकमे में तैनात हैं। घटना से पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं बेटी के सिर से पिता का साया उठ गया।

एक और स्वास्थ्य कर्मी का निधन

शहर के रायपुर फुलवारी निवासी रामजस कनौजिया (53) सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में वाटर मैन के पद पर तैनात थे। रामजस काफी दिनों से किडनी व अन्य बीमारी से पीड़ित थे। उनका इलाज चल रहा था। गुरुवार सुबह अचानक उनकी तबीयत ज्यादा खराब हुई उन्हें जिला चिकित्सालय ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: