37 : गौरीगंज : राष्ट्रपति के हाथ राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त करते मनोज मुंतशिर । -संवाद

37 : गौरीगंज : राष्ट्रपति के हाथ राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त करते मनोज मुंतशिर । -संवाद
– फोटो : AMETHI

ख़बर सुनें

गौरीगंज (अमेठी)। बॉलीवुड के चर्चित गीतकार मनोज मुंतशिर को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला है। मनोज को यह पुरस्कार फिल्म बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल के जीवन पर बनी फिल्म साइना में लिखे उनके गीत ‘मैं परिंदा क्यूं बनूं’ के लिए दिया गया है। अमेठी के लाल को राष्ट्रपति के हाथों पुरस्कृत होने पर अमेठी के लोग भी स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।
गौरीगंज शहर के वार्ड संख्या 16 निवासी मनोज मुंतशिर एक जाना पहचाना नाम हैं। वे अपने गीत और अपने यू-ट्यूब वीडियोज के माध्यम से अपनी बात को अच्छे तरीके से लोगों तक पहुंचा रहे हैं। मनोज मुंतशिर एक राष्ट्रवादी गीतकार, कवि और लेखक के रूप में प्रसिद्ध हैं। गीतकार होने के साथ वो कवि और पटकथा लेखक भी हैं। उन्होंने कई लोकप्रिय हिंदी फिल्मी गाने लिखे हैं। मनोज की शुरुआती पढ़ाई एचएएल स्कूल कोरवा में हुई। 1999 में इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक करने के बाद नौकरी की तलाश में मुंबई गए और कौन बनेगा करोड़पति के लिए डायलॉग लेखन का मौका मिला तो कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।
इन गीतों ने मचाया धमाल
मुंतशिर ने कई हिंदी फिल्म गीतों के लिए गीत लिखे हैं। इनमें एक विलेन फिल्म का ‘गलियां’, रुस्तम फिल्म का ‘तेरे संग यारा’, एमएस धोनी द अनटोल्ड स्टोरी फिल्म का ‘कौन तुझे’ और जीनियस फिल्म का दिल मेरी न सुने शामिल हैं। फिर भी तुमको चाहूंगा (2017) के लिए उनके गीत (ऐसा गीत जिसे आधिकारिक रिलीज से पहले अनौपचारिक संस्करणों में चार मिलियन से अधिक बार देखा गया था) 2001 में उनकी पत्नी के लिए लिखा गया था।
जता चुके नाराजगी
2019 में फिल्म केसरी के लिए लिखा उनका गीत तेरी मिट्टी मेें मिल जावां.. को सर्वश्रेष्ठ गीत के लिए 2020 के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था। बाद में यह पुरस्कार नहीं मिलने पर उन्होंने अपनी नाराजगी ट्वीट के जरिए जाहिर की थी। वे यश भारती पुरस्कार, आईफा पुरस्कार और रेडियो मिर्ची संगीत पुरस्कार सम्मानों से नवाजे जा चुके हैं। उन्होंने एक किताब लिखी है जिसका नाम है मेरी फितरत है मस्ताना जो 2019 में प्रकाशित हुई थी।

गौरीगंज (अमेठी)। बॉलीवुड के चर्चित गीतकार मनोज मुंतशिर को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला है। मनोज को यह पुरस्कार फिल्म बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल के जीवन पर बनी फिल्म साइना में लिखे उनके गीत ‘मैं परिंदा क्यूं बनूं’ के लिए दिया गया है। अमेठी के लाल को राष्ट्रपति के हाथों पुरस्कृत होने पर अमेठी के लोग भी स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

गौरीगंज शहर के वार्ड संख्या 16 निवासी मनोज मुंतशिर एक जाना पहचाना नाम हैं। वे अपने गीत और अपने यू-ट्यूब वीडियोज के माध्यम से अपनी बात को अच्छे तरीके से लोगों तक पहुंचा रहे हैं। मनोज मुंतशिर एक राष्ट्रवादी गीतकार, कवि और लेखक के रूप में प्रसिद्ध हैं। गीतकार होने के साथ वो कवि और पटकथा लेखक भी हैं। उन्होंने कई लोकप्रिय हिंदी फिल्मी गाने लिखे हैं। मनोज की शुरुआती पढ़ाई एचएएल स्कूल कोरवा में हुई। 1999 में इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक करने के बाद नौकरी की तलाश में मुंबई गए और कौन बनेगा करोड़पति के लिए डायलॉग लेखन का मौका मिला तो कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

इन गीतों ने मचाया धमाल

मुंतशिर ने कई हिंदी फिल्म गीतों के लिए गीत लिखे हैं। इनमें एक विलेन फिल्म का ‘गलियां’, रुस्तम फिल्म का ‘तेरे संग यारा’, एमएस धोनी द अनटोल्ड स्टोरी फिल्म का ‘कौन तुझे’ और जीनियस फिल्म का दिल मेरी न सुने शामिल हैं। फिर भी तुमको चाहूंगा (2017) के लिए उनके गीत (ऐसा गीत जिसे आधिकारिक रिलीज से पहले अनौपचारिक संस्करणों में चार मिलियन से अधिक बार देखा गया था) 2001 में उनकी पत्नी के लिए लिखा गया था।

जता चुके नाराजगी

2019 में फिल्म केसरी के लिए लिखा उनका गीत तेरी मिट्टी मेें मिल जावां.. को सर्वश्रेष्ठ गीत के लिए 2020 के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था। बाद में यह पुरस्कार नहीं मिलने पर उन्होंने अपनी नाराजगी ट्वीट के जरिए जाहिर की थी। वे यश भारती पुरस्कार, आईफा पुरस्कार और रेडियो मिर्ची संगीत पुरस्कार सम्मानों से नवाजे जा चुके हैं। उन्होंने एक किताब लिखी है जिसका नाम है मेरी फितरत है मस्ताना जो 2019 में प्रकाशित हुई थी।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

जिला जालौन पुलिस अधीक्षक रवि कुमार IPS के निर्देशन में लगातार शान्ति एवं कानून-व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत थाना जालौन पुलिस द्वारा प्रमुख स्थानों पर #Footpatrolling तथा संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग की गयी तथा जनता से संवाद कर उनकी सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया गया।कानून-व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत महिला थाना पुलिस द्वारा प्रमुख स्थानों पर #Footpatrolling तथा संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग की गयी तथा जनता से संवाद कर उनकी सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया गया।उरई कोतवाली पुलिस शान्ति एवं कानून-व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत थाना

जिला जालौन पुलिस अधीक्षक रवि कुमार IPS के निर्देशन में लगातार शान्ति एवं कानून-व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत थाना जालौन पुलिस द्वारा प्रमुख स्थानों पर #Footpatrolling तथा संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग की गयी तथा जनता से संवाद कर उनकी सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया गया।कानून-व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत महिला थाना पुलिस द्वारा प्रमुख स्थानों पर #Footpatrolling तथा संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग की गयी तथा जनता से संवाद कर उनकी सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया गया।उरई कोतवाली पुलिस शान्ति एवं कानून-व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत थाना

जिला जालौन पुलिस अधीक्षक रवि कुमार IPS के निर्देशन में लगातार शान्ति एवं कानून-व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत थाना जालौन पुलिस द्वारा प्रमुख स्थानों पर #Footpatrolling तथा संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग की गयी तथा जनता से संवाद कर उनकी सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया गया।कानून-व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत महिला थाना पुलिस द्वारा प्रमुख स्थानों पर #Footpatrolling तथा संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग की गयी तथा जनता से संवाद कर उनकी सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया गया।उरई कोतवाली पुलिस शान्ति एवं कानून-व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत थाना

%d bloggers like this: