ख़बर सुनें

मथुरा। कई दिन इंतजार के बाद आखिरकार शुक्रवार को मेघा जमकर बरसे। सड़कों पर पानी उफन पड़ा। शहर के सभी प्रमुख मार्ग पानी से लबालब हो गए।
पुराना बस स्टैंड पुल, नया बस स्टैंड सहित भूतेश्वर रेलवे पुल के नीचे जल भराव हो गया। आवागमन के रास्ते बंद हो गए। हाईवे के सर्विस लेन भी पानी में डूब गए। अनेक कॉलोनियों में जल भराव हो गया। इससे करीब दो घंटे तक आम आवागमन थम गया।
पिछले कई दिनों से उमस भरी गर्मी ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया था। इसमें भी यदाकदा बूंदाबांदी मुसीबत बन रही थी। इस स्थिति में लोग बारिश का इंतजार कर रहे थे। शुक्रवार कोे बारिश हो हुई। शाम साढे़ चार बजे शुरू हुई बारिश ने शहर के प्रत्येक तिराहे और चौराहों के साथ सड़कें पानी से लबालब हो गईं। नालियां और नाले उफन पड़े।
इससे डैंपियर नगर में हर ओर पानी नजर आने लगा। छत्ता बाजार, होलीगेट, कोतवाली रोड, आर्य समाज रोड, चौक बाजार, स्वामीघाट, बंगालीघाट से विश्रामघाट तक सड़कें पानी में डूब गईं। इसके अलावा बीएसए कॉलेज से भूतेश्वर तक, कृष्णा नगर, गोपाल नगर, महोली रोड, औद्योगिक क्षेत्र, मंडी परिसर, हाईवे की सर्विस रोड, गोवर्धन रोड से जुडे़ दर्जनों कॉलोनियों में पानी भर गया। निचले इलाकों की अनेक कॉलोनियों में स्थिति ऐसी हो गई कि आवागमन का रास्ता ही बंद हो गया। इससे आम राहगीर सड़कों पर नजर नहीं आए। इस दौरान सिर्फ बडे़ और चार पहिया वाहनों की ही मौजूदगी नजर आई।
पुराने और नए बस स्टैंड के साथ भूतेश्वर रेलवे पुल के नीचे जल भराव ने शहर के सभी रास्तों को ब्लॉक कर दिया। लोगों को बारिश के बाद भी रास्ता तय करने में हाईवे का सहारा लेना पड़ा, लेकिन यहां भी मुसीबत कम नहीं थी। सर्विस लेन भी पानी में डूबी रहीं। शहर की यह स्थित करीब दो घंटे तक बनी रही। नगर आयुक्त अनुनय झा ने बताया कि जहां पर जलभराव हुआ है, वहां से पानी निकालने के लिए निगम कर्मचारियों को लगाया गया।

मथुरा। कई दिन इंतजार के बाद आखिरकार शुक्रवार को मेघा जमकर बरसे। सड़कों पर पानी उफन पड़ा। शहर के सभी प्रमुख मार्ग पानी से लबालब हो गए।

पुराना बस स्टैंड पुल, नया बस स्टैंड सहित भूतेश्वर रेलवे पुल के नीचे जल भराव हो गया। आवागमन के रास्ते बंद हो गए। हाईवे के सर्विस लेन भी पानी में डूब गए। अनेक कॉलोनियों में जल भराव हो गया। इससे करीब दो घंटे तक आम आवागमन थम गया।

पिछले कई दिनों से उमस भरी गर्मी ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया था। इसमें भी यदाकदा बूंदाबांदी मुसीबत बन रही थी। इस स्थिति में लोग बारिश का इंतजार कर रहे थे। शुक्रवार कोे बारिश हो हुई। शाम साढे़ चार बजे शुरू हुई बारिश ने शहर के प्रत्येक तिराहे और चौराहों के साथ सड़कें पानी से लबालब हो गईं। नालियां और नाले उफन पड़े।

इससे डैंपियर नगर में हर ओर पानी नजर आने लगा। छत्ता बाजार, होलीगेट, कोतवाली रोड, आर्य समाज रोड, चौक बाजार, स्वामीघाट, बंगालीघाट से विश्रामघाट तक सड़कें पानी में डूब गईं। इसके अलावा बीएसए कॉलेज से भूतेश्वर तक, कृष्णा नगर, गोपाल नगर, महोली रोड, औद्योगिक क्षेत्र, मंडी परिसर, हाईवे की सर्विस रोड, गोवर्धन रोड से जुडे़ दर्जनों कॉलोनियों में पानी भर गया। निचले इलाकों की अनेक कॉलोनियों में स्थिति ऐसी हो गई कि आवागमन का रास्ता ही बंद हो गया। इससे आम राहगीर सड़कों पर नजर नहीं आए। इस दौरान सिर्फ बडे़ और चार पहिया वाहनों की ही मौजूदगी नजर आई।

पुराने और नए बस स्टैंड के साथ भूतेश्वर रेलवे पुल के नीचे जल भराव ने शहर के सभी रास्तों को ब्लॉक कर दिया। लोगों को बारिश के बाद भी रास्ता तय करने में हाईवे का सहारा लेना पड़ा, लेकिन यहां भी मुसीबत कम नहीं थी। सर्विस लेन भी पानी में डूबी रहीं। शहर की यह स्थित करीब दो घंटे तक बनी रही। नगर आयुक्त अनुनय झा ने बताया कि जहां पर जलभराव हुआ है, वहां से पानी निकालने के लिए निगम कर्मचारियों को लगाया गया।



Source link

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: