सीबीआई अफसर रूपेश श्रीवास्तव। (फाइल)

सीबीआई अफसर रूपेश श्रीवास्तव। (फाइल)
– फोटो : अमर उजाला।

ख़बर सुनें

गोरखपुर जिले के गुलरिहा इलाके में सीबीआई अफसर रूपेश श्रीवास्तव को साजिशन ट्रक से कुचलने की कोशिश नहीं की गई थी। गाड़ी में टक्कर महज हादसा ही था। ट्रक चालक की हादसे के समय ही मौत हो गई थी, इस वजह से कोई गुनाहगार भी नहीं बचा। जांच और साक्ष्यों के आधार पर एक नवंबर को गुलरिहा पुलिस ने एफआर (फाइनल रिपोर्ट) लगाकर फाइल बंद कर दी।

जानकारी के मुताबिक, महराजगंज जनपद के श्यामदेउरवा थाना क्षेत्र के पिपरालाला गांव के मूल निवासी रूपेश श्रीवास्तव सीबीआई में डिप्टी एसपी के पद पर हैं। 12 अगस्त 2022 को गांव से लौटते समय उसके वाहन में दो बार एक ट्रक से टक्कर लगी। पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम जैसे हाईप्रोफाइल केस की जांच में शामिल होने की वजह से रूपेश ने ट्रक से कुचलने की कोशिश का केस दर्ज कराया था।

पुलिस ने तहरीर के आधार पर केस दर्ज किया था। जांच की तो पता चला कि हादसे के बाद ट्रक चालक की दबकर मौत हो गई थी और उस ट्रक में उसके अलावा कोई शामिल नहीं था। ट्रक कुशीनगर के निवासी का था और वह सामान उतारकर लौट रहा था। सीसी टीवी कैमरे, ट्रक के आने के रास्तों की जांच व वैज्ञानिक साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने पाया कि उस दिन महज हादसा हुआ था, कोई कुचलने की कोशिश नहीं की गई थी। इसी आधार पर पुलिस ने केस को खत्म करने हुए फाइनल रिपोर्ट लगा दी।

कुशीनगर का रहने वाला था ट्रक ड्राइवर
ट्रक ड्राइवर की पहचान कुशीनगर जिले के सुकरौली के रहने वाले बदन कुमार (28) के रूप में हुई थी। उसकी हादसे के समय ही मौत हो गई थी। ट्रक को जब हटाया गया तो उसकी लाश दबी हुई मिली थी।

एसपी नार्थ मनोज अवस्थी ने कहा कि पुलिस की जांच में महज हादसा सामने आया है। जांच और वैज्ञानिक साक्ष्यों के बाद पुलिस ने एक नवंबर को फाइनल रिपोर्ट लगा दी है।

 

विस्तार

गोरखपुर जिले के गुलरिहा इलाके में सीबीआई अफसर रूपेश श्रीवास्तव को साजिशन ट्रक से कुचलने की कोशिश नहीं की गई थी। गाड़ी में टक्कर महज हादसा ही था। ट्रक चालक की हादसे के समय ही मौत हो गई थी, इस वजह से कोई गुनाहगार भी नहीं बचा। जांच और साक्ष्यों के आधार पर एक नवंबर को गुलरिहा पुलिस ने एफआर (फाइनल रिपोर्ट) लगाकर फाइल बंद कर दी।

जानकारी के मुताबिक, महराजगंज जनपद के श्यामदेउरवा थाना क्षेत्र के पिपरालाला गांव के मूल निवासी रूपेश श्रीवास्तव सीबीआई में डिप्टी एसपी के पद पर हैं। 12 अगस्त 2022 को गांव से लौटते समय उसके वाहन में दो बार एक ट्रक से टक्कर लगी। पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम जैसे हाईप्रोफाइल केस की जांच में शामिल होने की वजह से रूपेश ने ट्रक से कुचलने की कोशिश का केस दर्ज कराया था।

पुलिस ने तहरीर के आधार पर केस दर्ज किया था। जांच की तो पता चला कि हादसे के बाद ट्रक चालक की दबकर मौत हो गई थी और उस ट्रक में उसके अलावा कोई शामिल नहीं था। ट्रक कुशीनगर के निवासी का था और वह सामान उतारकर लौट रहा था। सीसी टीवी कैमरे, ट्रक के आने के रास्तों की जांच व वैज्ञानिक साक्ष्यों के आधार पर पुलिस ने पाया कि उस दिन महज हादसा हुआ था, कोई कुचलने की कोशिश नहीं की गई थी। इसी आधार पर पुलिस ने केस को खत्म करने हुए फाइनल रिपोर्ट लगा दी।

कुशीनगर का रहने वाला था ट्रक ड्राइवर

ट्रक ड्राइवर की पहचान कुशीनगर जिले के सुकरौली के रहने वाले बदन कुमार (28) के रूप में हुई थी। उसकी हादसे के समय ही मौत हो गई थी। ट्रक को जब हटाया गया तो उसकी लाश दबी हुई मिली थी।

एसपी नार्थ मनोज अवस्थी ने कहा कि पुलिस की जांच में महज हादसा सामने आया है। जांच और वैज्ञानिक साक्ष्यों के बाद पुलिस ने एक नवंबर को फाइनल रिपोर्ट लगा दी है।

 





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: