छठ के बाद ट्रेनों में भीड़।

छठ के बाद ट्रेनों में भीड़।
– फोटो : अमर उजाला।

ख़बर सुनें

दरभंगा-नई दिल्ली स्पेशल (02569) ट्रेन करीब सवा दो घंटे की देरी से गोरखपुर जंक्शन पहुंची। ट्रेन को काफी देर तक कैंट स्टेशन पर ही खड़ा कर दिया गया था।

दिल्ली जाने के लिए बुधनगर की बेबी सिंह परिवार के साथ पहुंची थीं। उनके साथ हृदय रोगी एक बुजुर्ग भी थे, जो दिल्ली रूटीन चेकअप कराने जा रहे थे। काफी देर खड़ा रहने के बाद जब उनकी बेचैनी बढ़ी तो सभी लोग परेशान हो गए। ट्रेन कब आएगी, किसी को पता नहीं चल पा रहा था। जो सूचकांक लगे थे उस पर गलत समय दर्शा रहा था।

यह हालात उन सभी यात्रियों के थे, जिन्होंने अपनी ट्रेन के इंतजार में घंटों प्लेटफॉर्म पर समय व्यतीत किया। दरभंगा-नई दिल्ली स्पेशल सवा दो घंटे की देरी से प्लेटफॉर्म पांच पर पहुंची तो सभी ने राहत की सांस ली। इसी प्रकार बिहार से आने वाली ज्यादातर ट्रेनें घंटों देर से गोरखपुर जंक्शन पहुंचीं। ट्रेन के इंतजार में बहुत सारे यात्री घंटों प्लेटफॉर्म पर खड़ा रहे। बुजुर्ग और महिलाएं थककर चूर हो गए और फर्श पर ही बैठ गए।  

 

स्टेशन के पूछताछ केंद्र पर भी यात्रियों की भीड़ जुटी रही। यात्री ट्रेन की सूचना को लेकर परेशान रहे। उन्हें विलंब से आने वाली स्पेशल ट्रेनों की सूचनाएं सही नहीं मिल पाईं।

देर से आने वाली प्रमुख ट्रेनें
ट्रेन                                        विलंब (घंटे में)
गोरखधाम एक्सप्रेस  12556                 2:30
नई दिल्ली-न्यू गुवाहटी 00402            15: 00
आनंद-विहार-छपरा स्पे. 04038          7:00
चंडीगढ़-डिब्रूगढ़ एक्स. 15904            3:20
अंबाला-सिकंराबाद स्पेशल 05522     14:40
दुर्ग-नौतनवां स्पेशल 18201                 3:32
बरौनी-बांद्रा एक्स.  19038                   7:24
अमृतसर-दरभंगा एक्सप्रेस                   3:55

विस्तार

दरभंगा-नई दिल्ली स्पेशल (02569) ट्रेन करीब सवा दो घंटे की देरी से गोरखपुर जंक्शन पहुंची। ट्रेन को काफी देर तक कैंट स्टेशन पर ही खड़ा कर दिया गया था।

दिल्ली जाने के लिए बुधनगर की बेबी सिंह परिवार के साथ पहुंची थीं। उनके साथ हृदय रोगी एक बुजुर्ग भी थे, जो दिल्ली रूटीन चेकअप कराने जा रहे थे। काफी देर खड़ा रहने के बाद जब उनकी बेचैनी बढ़ी तो सभी लोग परेशान हो गए। ट्रेन कब आएगी, किसी को पता नहीं चल पा रहा था। जो सूचकांक लगे थे उस पर गलत समय दर्शा रहा था।

यह हालात उन सभी यात्रियों के थे, जिन्होंने अपनी ट्रेन के इंतजार में घंटों प्लेटफॉर्म पर समय व्यतीत किया। दरभंगा-नई दिल्ली स्पेशल सवा दो घंटे की देरी से प्लेटफॉर्म पांच पर पहुंची तो सभी ने राहत की सांस ली। इसी प्रकार बिहार से आने वाली ज्यादातर ट्रेनें घंटों देर से गोरखपुर जंक्शन पहुंचीं। ट्रेन के इंतजार में बहुत सारे यात्री घंटों प्लेटफॉर्म पर खड़ा रहे। बुजुर्ग और महिलाएं थककर चूर हो गए और फर्श पर ही बैठ गए।  

 





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: