ख़बर सुनें

अयोध्या। अब पेंशनरों को जीवित प्रमाण-पत्र जमा करने के लिए कोषागार, बैंक या अन्य किसी विभाग में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। पेंशनर्स घर बैठे डाकिया के माध्यम से यह प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। मंडलीय कार्यालय में बैठक के दौरान अयोध्या मंडल के प्रवर अधीक्षक डाकघर पीके सिंह ने शनिवार को ये जानकारी दी।
प्रवर अधीक्षक पीके सिंह ने बताया कि पेंशनर अपने नजदीकी शहरी या ग्रामीण डाकघर के डाकिया के माध्यम से डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट बनवा सकते हैं। इसके लिए उन्हें मात्र 70 रुपये शुल्क देना पड़ेगा। यह प्रमाण पत्र स्वत: संबंधित विभाग को ऑनलाइन पहुंच जाएगा। इससे पेंशन मिलने में कोई रुकावट नहीं आएगी।
यह सुविधा सभी डाकघरों में इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने कहा कि पेंशनर इस सुविधा का लाभ लेने के लिए अपने डाकिया के साथ-साथ पोस्ट इंफो मोबाइल एप द्वारा ऑनलाइन अनुरोध भी कर सकते हैं।
इसके लिए पेंशनर को आधार नंबर, मोबाइल नंबर, बैंक या डाकघर खाता संख्या और पीपीओ नंबर देना होगा। बैठक में सहायक अधीक्षक अनिल द्विवेदी, निरीक्षक राजेश्वर दूबे, हिमांशु शुक्ल, मुख्य विपणन अधिकारी सत्येंद्र प्रताप सिंह, हिमांशु कनौजिया आदि मौजूद रहे।

अयोध्या। अब पेंशनरों को जीवित प्रमाण-पत्र जमा करने के लिए कोषागार, बैंक या अन्य किसी विभाग में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। पेंशनर्स घर बैठे डाकिया के माध्यम से यह प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं। मंडलीय कार्यालय में बैठक के दौरान अयोध्या मंडल के प्रवर अधीक्षक डाकघर पीके सिंह ने शनिवार को ये जानकारी दी।

प्रवर अधीक्षक पीके सिंह ने बताया कि पेंशनर अपने नजदीकी शहरी या ग्रामीण डाकघर के डाकिया के माध्यम से डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट बनवा सकते हैं। इसके लिए उन्हें मात्र 70 रुपये शुल्क देना पड़ेगा। यह प्रमाण पत्र स्वत: संबंधित विभाग को ऑनलाइन पहुंच जाएगा। इससे पेंशन मिलने में कोई रुकावट नहीं आएगी।

यह सुविधा सभी डाकघरों में इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के माध्यम से उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने कहा कि पेंशनर इस सुविधा का लाभ लेने के लिए अपने डाकिया के साथ-साथ पोस्ट इंफो मोबाइल एप द्वारा ऑनलाइन अनुरोध भी कर सकते हैं।

इसके लिए पेंशनर को आधार नंबर, मोबाइल नंबर, बैंक या डाकघर खाता संख्या और पीपीओ नंबर देना होगा। बैठक में सहायक अधीक्षक अनिल द्विवेदी, निरीक्षक राजेश्वर दूबे, हिमांशु शुक्ल, मुख्य विपणन अधिकारी सत्येंद्र प्रताप सिंह, हिमांशु कनौजिया आदि मौजूद रहे।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: