उत्तर प्रदेश जालौन

माधौगढ़ से पंचनद सगम तक विकास की हकीकत करती उबड़खाबड़ सड़क

० जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा का दंश झेल रहा माधौगढ़ क्षेत्र

उरई (जालौन)।(गोविंद सिंह दाऊ):-। माधौगढ से पंचनद संगम तक विकास की हकीकत वयां करती ऊबड खाबड सडक जगम्मनपुर संसदीय चुनाव की डुग डुगी बज चुकी हैं ओर एक बार फिर शियासी खिलाड़ियों ने मोर्चा सभाल लिया है सभी के अपने अपने दावे अपने अपने वायदे किन्तु अस्सी के दशक का एक चर्चित फिल्म का गाना वादे है वादे का क्या यहां के परवेश में काफी फिट बैठता है या यूं कहा जाये चुनाव में जो भी वादे किये जाते हैं वो करने के लिए नही वो सिर्फ सपने दिखाने के लिए तैयार किये जाते है इस बार पहले चुनाव में जनता के बीच किए गए बादे जनता के बीच समक्ष प्रतिज्ञा करनी होगी क्योंकि अबकी बार कठिन है डगर पनघट की वही वादा खिलापी के लिए जनता को कमर कस कर अदालत में जाने के लिए त्यार रहना होगा
बात करते है संसदीय क्षेत्र के सबसे लम्बे लगभग 30 कि, मी, लम्बे अति ब्यस्त ग्रामीण खस्ता हाल मार्ग की लोस चुनाव के वक्त इसका बिस्तार से जिक्र इसलिए जरूरी है राजनैतिक पारी इसको आधार बना कर शुरू हुई थी यहाँ पर यह बताना जरूरी हो जाता है कि यह मार्ग के अति जर्जर हो जाने से लगभग सवा सौ गावों का जनजीवन सीधे तोर पर प्रभावित हैं देखा जाये तो इसके जिम्मेदार सीधे तोर पर ठेकेदार को ही नहीं ठहराया जाये बल्की प्रसासन भी है क्यों कि कमीशन के चक्कर मे ठेकेदार न तो खुदाई करके सबसे पहले 6 इंची रेता डालना जरूरी चाहिये क्योकि इसपर से भारी बाहन गुजरने से नीचे पडी रेता की बजह से बायबे्रेसन होता रहता है जिससे सड़क पर दरारे नही पडती फिर सोलिंग लगाई जाती हैं इसके बाद 40 एम. एम. डाल कर वाटर वाउन्ड करके कार्पेटिगं की जाती हैं लेकिन कमीशन के चक्कर में जला हुआ थर्ड क्वालिटी का कार्यपेड डाल कर पैमायस करा देते हैं कमीसन के चक्कर मे ये, ई, सहाब पेमेन्ट मे भी देरी नही करते हैं
गोरतलब है कि इस मार्ग की खस्ता हालत से बैसे तो सवासौ गावों का जनजीवन अस्त ब्यक्त है लेकिन मुख्य मार्ग पर वसे माधोगढ, रजपुरा, अकबरपुरा, भीकमपुरा रामपुरा, बुडेरा, मई, जमालपुरा, डिकोली, मलानपुरा, निनाउली, जायघा, बेनीपुरा, जगम्मनपुर, कंजोसा, के लोगों का जीवन इसकदर धूल- धूसरित है कि लोंगो का जीना दुसवार बना हुआ है यहां पर उल्लेखनीय है कि मोदी देश में मोदी के विकाश माडल का शवरूप कुछ भी क्यों न हो किन्तु जिला जालोन में विकाश माडल का सत्य एसा हैं कि इसकी नजीर देना सायद खुद किसी भी नेता या सरकार के बस
में नहीं है।