उत्तर प्रदेश जालौन

रजिस्ट्रेशन एक ब्रांड अनेक की तर्ज पर नगर में गुटखा फैक्ट्री संचालित

0खाद बिभाग की मेहरबानी से फल फूल रहा गुटखा माफियो का कारोबार

उरई (जालौन)।(गोविंद सिंह दाऊ):- जनपद के नागरीय छेत्र में रजिस्ट्रेशन एक और ब्रांड अनेक की तर्ज पर गुटखा माफियाओं द्वारा तंम्बाकू मिश्रित विभिन्न ब्रांडों के गुटखा का कारोबार खुलेआम धडल्ले से किया जा रहा है।सब कुछ जानते हुए भी खाद्य विभाग चुप्पी साधे हुए बैठा है।आखिर इसके पीछे क्या वजह है। जो गुटखा माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने से खाद्य विभाग हिचकिचा रहा है।
उच्चतम न्यायालय द्वारा तंबाकू मिश्रित गुटखा की बिक्री पर पूर्णता प्रतिबंध होने के बावजूद भी खाद्य विभाग द्वारा गुटखा माफियाओं के खिलाफ कोई कार्रवाई न करना निश्चित रूप से खाद्य विभाग की कार्यशैली पर प्रश्न लग रहा है। क्योंकि लोगों का मानना है कि खाद्य विभाग की गुटखा माफियाओं से गहरी सांठगांठ है। जिसके चलते नगर एवं कस्बों में खुलेआम धड़ल्ले से तंबाकू मिश्रित विभिन्न प्रकार के ब्रांडो के गुटखों का कारोबार चल रहा है। इस अवैध कारोबार को चलाने के लिए गुटखा माफियाओं द्वारा नगर में जगह-जगह तंबाकू मिश्रित गुटका की फैक्ट्रियां संचालित की जा रही हैं जो खूब फल-फूल रही है।नगर में झांसी रोड पर स्थित मोहल्ला उमरार खेड़ा में गुटखा माफियाओं द्वारा विभिन्न प्रकार के व्रांडो के तम्बाकू मिश्रित गुटखों का कारोबार बेखौफ चलाया जा रहा है। जो उच्चतम न्यायालय के आदेशों की धज्जियां उड़ाकर राजस्व को लाखों का चूना लगा रहे हैं।इसी तरह मोहल्ला तुलसी नगर एवं कोच बस स्टैंड के अलावा नगर के अन्य जगहों पर तंबाकू मिश्रित गुटखा तैयार किया जा रहा है और बाजार में उसकी सप्लाई की जा रही है।जानकारी के अनुसार यह गुटखा माफिया अपने बचाव के लिए गैर तंबाकू मिश्रित गुटखा बेचने के नाम पर एक रजिस्ट्रेशन करा कर अनेक ब्राडो के तंबाकू मिश्रित गुटखों का कारोबार चलाने के लिए महीन सुपाड़ी एवं तम्बाकू की अलग-अलग पैकिंग कर प्रशासन की आंखों में धूल झोंक कर अपना उल्लू सीधा कर रहे हैं।गुटका माफियाओं के इस अवैध कारोबार में खाद्य विभाग की मिलीभगत होना नगर में चर्चा का विषय बनी हुई है।अब देखना यह है कि गुटखा माफियाओं के खिलाफ खाद्य विभाग के अधिकारी कोई कदम उठाते हैं। या फिर उन्हें अवैध कारोबार चलाने के लिए पूर्व की तरह अभय दान देते रहें।