निखिल त्यागी/सहारनपुर. आस्था का महापर्व छठ के चार दिवसीय अनुष्ठान के तीसरे दिन यानी 30 अक्टूबर को भगवान भास्कर को संध्या में पहला अर्घ्य अर्पित किया जाएगा. जबकि 31 अक्टूबर को छठ व्रती सूर्योदय के समय भगवान भास्कर को अर्घ्य देंगी. जिसके बाद पारण के साथ छठ महापर्व का समापन किया जाएगा. कार्यक्रम के आयोजक ठाकुर रामाशंकर सिंह ने बताया कि छठी मैया की भव्य मूर्ति आ गई है. विधि विधान के साथ पूजन अर्चन कर मां की अस्थाई मूर्ति छठ घाट पर स्थापित की हो गई है.

रमा शंकर सिंह ने पूर्वांचल के सभी लोगों से मूर्ति स्थापना के समय घाट पर पहुंचकर धर्म लाभ उठाने की अपील की. उन्होंने बताया कि घाट पर लाइट, स्टेज, रंग रोगन समेत सभी कार्य पूरे किए जा चुके हैं. पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में यह पर्व काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. पौराणिक कथाओं के अनुसार इस पूजा की शुरुआत सूर्य पुत्र और महान योद्धा कर्ण ने की थी. मान्यता है कि इस दिन सूर्यदेव और छठी मईया की पूजा अर्चना करने से निसंतान को संतान की प्राप्ति होती है और संतान की सुख समृद्धि व दीर्घायु का आशीर्वाद प्राप्त होता है.

बड़ी नहर स्थित छठ घाट पर भी तैयारी पूरी
बड़ी नहर स्थित छठ घाट पर छठ पूजा सेवा समिति ने सभी तैयारियां पूरी कर ली है. बड़ी नहर पर आयोजित होने वाले छठ महापूजा कार्यक्रम के परिप्रेक्ष्य में छठ पूजा सेवा समिति और नगर निगम सहारनपुर में आयोजन को सफल बनाने के लिए पूरी ताकत लगा दी है. बड़ी नहर पर बने घाट पर छठी मैया का अस्थाई भव्य मंदिर नहर के भीतर बनाया जाता है जो खासा आकर्षण का केंद्र रहता है. इतना ही नहीं भव्य मंच और छठ घाट पर प्रतीकात्मक मईया की शिला आकर्षण का केंद्र रहती हैं. नगर निगम द्वारा नहर स्थित घाट पर मरम्मत का कार्य, लाइट की व्यवस्था, रंग रोगन का कार्य करा दिया गया है. वहीं भव्य अस्थाई मंदिर, मंच से लेकर तमाम व्यवस्थाएं छठ पूजा सेवा समिति ने संभाल रखी है.

इस संबंध में जानकारी देते हुए छठ पूजा सेवा समिति के आयोजक ठाकुर रामाशंकर सिंह ने बताया कि समिति आयोजन को भव्य रूप प्रदान करना चाहती है और इसके लिए समिति के सभी सदस्य जी जान से अपना सहयोग कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि व्रर्तियों के आने और उनके उचित पूजा पाठ की व्यवस्था के लिए छठ पूजा सेवा समिति दृढ़ संकल्पित है. व्यवस्थाओं में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी.

समिति के अध्यक्ष संतोष शाह निरहुआ और महामंत्री अनिल गिरी ने पूर्वांचल के लोगों से भागीदारी की अपील की और कहा कि आप अपने इस पर्व की भव्यता को और बेहतर बनाने के लिए अपना सहयोग करें. इतना ही नहीं उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि पूर्वांचल से संबंधित सभी संस्थाएं जो बड़ी नहर पर कार्यक्रम को आयोजित करती हैं वह इस बार छठ पूजा सेवा समिति के तत्वावधान में संयुक्त रुप से आयोजन कर रही हैं.

सभी संस्थाओं ने मिलकर की तैयारी
छठ पूजा सेवा समिति के संरक्षक पवन सिंह ने बताया कि बड़ी नहर पर जनपद के सबसे बड़े संगठन छठ पूजा सेवा समिति शानदार आयोजन के लिए कृत संकल्पित है और इसकी भव्यता में सभी पूर्वांचल के लोगों का अथाह सहयोग और प्रेम मिल रहा है. पूर्वांचल की इन सभी संस्थाओं ने साथ मिलकर छठ पूजा के भव्य आयोजन की तैयारियां की है.

Tags: Saharanpur news, Uttar pradesh news



Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: