उत्तर प्रदेश जालौन

महिलाओं एवं मासूमों के साथ हो रहे बलात्कार व हत्याओं के विरोध में करणी सेना ने किया प्रदर्शन

० कलैक्ट्रेट पहुंच कर राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन सौंपा सिटी मजिस्ट्रेट को

० जुलूस के दौरान बंद करवाया बाजार

उरई (जालौन)(गोविंद सिंह दाऊ):-। ।महिलाओं एवं मासूम बालिकाओं पर आये दिन हो रहे बलात्कार व हत्याओं को रोकने और कठोर कानून बनाये जाने की मांग को लेकर आज श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने शहर के जीआईसी मैदान से जुलूस निकाला जो स्टेशन रोड, शहीद भगत सिंह चौराहा, घंटाघर, माहिल तालाब तथा डीबीसी कालेज से अम्बेडकर चौराहा होता हुआ जिलाधिकारी कार्यालय पर पहुंचा और प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन अतिरिक्त मजिस्ट्रेट को सौंपा।
इस मौके पर प्रमुख रूप से अवध महामंत्री कुंदन सिंह भाटी, किशन सिंह प्रचार-प्रसार मंत्री लखनऊ मंडल, सतीश सिंह भदौरिया प्रदेश पदाधिकारी राजपूत करणी सेना, जिला उपाध्यक्ष हरेंद्र सिंह, कोषाध्यक्ष भरतसिंह, नवनियुक्त ब्लॉक सचिव राममिलन सिंह, शिवेन्द्र सिंह तोमर केटी प्रदेश उपाध्यक्ष, सोमेन्द्र जालौन, आशू सेंगर सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।राष्ट्रपति को भेजे ज्ञापन में लिखा है कि समूचे भारत वर्ष में आये दिन मासूम बालिकाओं एवं महिलाओं से बलात्कार एवं उनकी बुरी तरह से हत्या की वारदातें बढती जा रही है। कुछ दिन पहले अलीगढ़ में.आठ साल की बेटी के साथ फिर बुंदेलखंड के हमीरपुर जनपद के कुरारा क्षेत्र में इसके बाद जनपद जालौन के कुठौंद क्षेत्र में हद तो तब हो गयी जब हाल में ही जनपद जालौन के एट थाना क्षेत्र के हरदोई गूजर ग्राम में 6 माह की मासूम के साथ हैवानियत की कोशिश की गयी ये वारदातें आये दिन बढती जा रही है जिससे समस्त जनता में आक्रोश देखा जा रहा है।श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के पदाधिकारियों ने मांग की है कि ऐसा कठोर कानून बनाया जाये जिसमें ऐसे दुराचारियों को गिरफ्तार कर तत्काल प्रभाव से 24 घंटे के अंदर फांसी की सजा का प्रावधान हो तब जाकर कहीं ऐसी वारदातों से बचा जा सकता है। संगठन के पदाधिकारियों ने यह भी कहा है कि अगर इस कानून को जल्द से जल्द लागू नहीं करवाया गया तो हम सभी संगठनों का एक साथ आवाहन करके सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होंगे जिसकी जिम्मेदारी शासन व प्रशासन की होगी।

फोट़ो न.–5
फोट़ो परिचय- कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन करते राजपूत करणी सेना के लोग।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *