ख़बर सुनें

अमेठी। गणित व विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ाने के लिए शुक्रवार को पचेहरी स्थित पंचायत रिसोर्स सेंटर में जिला स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी आयोजित हुई। इसमें ब्लॉक स्तरीय क्विज के प्रतिभागियों ने प्रोजेक्ट/मॉडल के माध्यम से पर्यावरण समेत अन्य विषयों पर अपनी जानकारी साझा की। निर्णायक मंडल ने बच्चों के प्रोजेक्ट/मॉडल के साथ सवालों के जरिए सर्वश्रेष्ठ दस प्रतिभागियों का चयन विजेता के रूप में किया। विजयी प्रतिभागियों को सीडीओ ने पुरस्कृत करते हुए गणित व विज्ञान विषय को समझने व पढ़ने की विधि बताई।
बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से संचालित 234 उच्च प्राथमिक व 197 कंपोजिट परिषदीय स्कूल में 40,663 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। जूनियर स्तर पर पंजीकृत विद्यार्थी को गणित व विज्ञान के साथ प्रौद्योगिकी तकनीक से रूबरू कराने के लिए ब्लॉक के बाद शुक्रवार को जिला स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी आयोजित हुई। पचेहरी स्थित जिला पंचायत के रिसोर्स सेंटर में आयोजित प्रदर्शनी में ब्लॉक स्तरीय प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागी शिक्षकों के साथ अपने प्रोजेक्ट/मॉडल लेकर शामिल हुए। प्रदर्शनी में तर्क, चिंतन एवं कल्पना पर आधारित विषयों में तैयार प्रोजेक्ट/मॉडल से विज्ञान प्रयोगशाला, औद्योगिक इकाई, शोध संस्थान व आधुनिक युग में विज्ञान के महत्व, प्रदूषण व नवाचार विधि में दक्ष किया गया।
प्रदर्शनी में उच्च प्राथमिक स्कूल भादर के सिद्धार्थ पाल, कंपोजिट स्कूल हसनपुर में मो. कैस, तिहैतनपुर के करन सिंह, नारायण पुर के आदित्य कुमार, धनीजलालपुर की सोनम, जलामा के अक्षय कुमार, धनी जलालपुर की सलोनी, बालचंदपुर की सविता, गड़रियाडीह के सचिन तथा दखिनवारा के रत्नेश क्रमश पहले से दसवें स्थान के विजेता रहे। सीडीओ सान्या छाबड़ा ने इन्हें पुरस्कृत किया। वहीं, बीएसए संगीता सिंह ने पर्यावरण समेत अन्य वैज्ञानिक क्षेत्रों की जानकारी देते हुए इन बच्चों की बौद्धिक क्षमता वृद्धि करने की कोशिश करते हुए गणित व विज्ञान विषय को समझने व पढ़ने की विधि बताई। इस मौके पर जिला समन्वयक प्रशिक्षण अभिनव पांडेय समेत सभी शिक्षक व विद्यार्थी मौजूद रहे।

अमेठी। गणित व विज्ञान के प्रति रुचि बढ़ाने के लिए शुक्रवार को पचेहरी स्थित पंचायत रिसोर्स सेंटर में जिला स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी आयोजित हुई। इसमें ब्लॉक स्तरीय क्विज के प्रतिभागियों ने प्रोजेक्ट/मॉडल के माध्यम से पर्यावरण समेत अन्य विषयों पर अपनी जानकारी साझा की। निर्णायक मंडल ने बच्चों के प्रोजेक्ट/मॉडल के साथ सवालों के जरिए सर्वश्रेष्ठ दस प्रतिभागियों का चयन विजेता के रूप में किया। विजयी प्रतिभागियों को सीडीओ ने पुरस्कृत करते हुए गणित व विज्ञान विषय को समझने व पढ़ने की विधि बताई।

बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से संचालित 234 उच्च प्राथमिक व 197 कंपोजिट परिषदीय स्कूल में 40,663 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। जूनियर स्तर पर पंजीकृत विद्यार्थी को गणित व विज्ञान के साथ प्रौद्योगिकी तकनीक से रूबरू कराने के लिए ब्लॉक के बाद शुक्रवार को जिला स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी आयोजित हुई। पचेहरी स्थित जिला पंचायत के रिसोर्स सेंटर में आयोजित प्रदर्शनी में ब्लॉक स्तरीय प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागी शिक्षकों के साथ अपने प्रोजेक्ट/मॉडल लेकर शामिल हुए। प्रदर्शनी में तर्क, चिंतन एवं कल्पना पर आधारित विषयों में तैयार प्रोजेक्ट/मॉडल से विज्ञान प्रयोगशाला, औद्योगिक इकाई, शोध संस्थान व आधुनिक युग में विज्ञान के महत्व, प्रदूषण व नवाचार विधि में दक्ष किया गया।

प्रदर्शनी में उच्च प्राथमिक स्कूल भादर के सिद्धार्थ पाल, कंपोजिट स्कूल हसनपुर में मो. कैस, तिहैतनपुर के करन सिंह, नारायण पुर के आदित्य कुमार, धनीजलालपुर की सोनम, जलामा के अक्षय कुमार, धनी जलालपुर की सलोनी, बालचंदपुर की सविता, गड़रियाडीह के सचिन तथा दखिनवारा के रत्नेश क्रमश पहले से दसवें स्थान के विजेता रहे। सीडीओ सान्या छाबड़ा ने इन्हें पुरस्कृत किया। वहीं, बीएसए संगीता सिंह ने पर्यावरण समेत अन्य वैज्ञानिक क्षेत्रों की जानकारी देते हुए इन बच्चों की बौद्धिक क्षमता वृद्धि करने की कोशिश करते हुए गणित व विज्ञान विषय को समझने व पढ़ने की विधि बताई। इस मौके पर जिला समन्वयक प्रशिक्षण अभिनव पांडेय समेत सभी शिक्षक व विद्यार्थी मौजूद रहे।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: