आलोक की फाइल फोटो। संवाद

आलोक की फाइल फोटो। संवाद
– फोटो : AURAIYA

ख़बर सुनें

बिधूना। बेला बिधूना मार्ग अचानक सड़क पर आई एक बच्ची को बचाने में बाइक सवार डंपर की चपेट में आकर बुरी तरह से घायल हो गए। घायलों को स्थानीय लोगों ने बिधूना अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने एक युवक को मृत घोषित कर दिया। दूसरे को गंभीर हालत में कानपुर रेफर किया है।
बिधूना कोतवाली क्षेत्र के बदनपुर निवासी आलोक यादव (23) पुत्र लालमन शनिवार दोपहर तीन बजे बाइक से अपने मौसेरे भाई आशीष कुमार निवासी कल्यानपुर, कानपुर के साथ बिधूना एक जन्मदिन पार्टी में शामिल होने जा रहे थे। जैसे ही दोनों बिधूना मार्ग पर ताजपुर के पास पहुंचे तभी बीच सड़क पर एक मासूम आ गई। उसे बचाने की कोशिश में बाइक असंतुलित होकर पीछे से आ रहे डंपर से टकरा गई।
हादसे में हेलमेट न लगाए होने से आलोक के सिर में गंभीर चोटें आईं वहीं आशीष भी बुरी तरह घायल हो गया। स्थानीय लोगों ने हादसे की जानकारी परिजनों को देकर दोनों को बिधूना सीएचसी पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों ने आलोक को मृत घोषित कर दिया। अस्पताल पहुंची मां सुनीता देवी व पिता लालमन व भाई ऋषभ व बहन नीलम का रो-रोकर बेहाल थे।
कोतवाली प्रभारी जीवाराम ने बताया कि घटना के बाद डंपर चालक मौके से भाग निकला है। डंपर को कब्जे में लिया गया है। शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

अस्पताल गेट पर भाई की मौत के बाद बिलखती बहन। संवाद

अस्पताल गेट पर भाई की मौत के बाद बिलखती बहन। संवाद– फोटो : AURAIYA

बिधूना। बेला बिधूना मार्ग अचानक सड़क पर आई एक बच्ची को बचाने में बाइक सवार डंपर की चपेट में आकर बुरी तरह से घायल हो गए। घायलों को स्थानीय लोगों ने बिधूना अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने एक युवक को मृत घोषित कर दिया। दूसरे को गंभीर हालत में कानपुर रेफर किया है।

बिधूना कोतवाली क्षेत्र के बदनपुर निवासी आलोक यादव (23) पुत्र लालमन शनिवार दोपहर तीन बजे बाइक से अपने मौसेरे भाई आशीष कुमार निवासी कल्यानपुर, कानपुर के साथ बिधूना एक जन्मदिन पार्टी में शामिल होने जा रहे थे। जैसे ही दोनों बिधूना मार्ग पर ताजपुर के पास पहुंचे तभी बीच सड़क पर एक मासूम आ गई। उसे बचाने की कोशिश में बाइक असंतुलित होकर पीछे से आ रहे डंपर से टकरा गई।

हादसे में हेलमेट न लगाए होने से आलोक के सिर में गंभीर चोटें आईं वहीं आशीष भी बुरी तरह घायल हो गया। स्थानीय लोगों ने हादसे की जानकारी परिजनों को देकर दोनों को बिधूना सीएचसी पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों ने आलोक को मृत घोषित कर दिया। अस्पताल पहुंची मां सुनीता देवी व पिता लालमन व भाई ऋषभ व बहन नीलम का रो-रोकर बेहाल थे।

कोतवाली प्रभारी जीवाराम ने बताया कि घटना के बाद डंपर चालक मौके से भाग निकला है। डंपर को कब्जे में लिया गया है। शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

अस्पताल गेट पर भाई की मौत के बाद बिलखती बहन। संवाद

अस्पताल गेट पर भाई की मौत के बाद बिलखती बहन। संवाद– फोटो : AURAIYA





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: