कुठौंद जालौन विकासखंड कुठौंद में ग्राम पंचायत कुठौंद की गौशाला के लिए जिले से आए मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी डॉ देवेंद्र सिंह यादव ,पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ महेश प्रसाद ,पशुधन प्रसार अधिकारी दुष्यंत यादव, सहायक विकास अधिकारी पंचायत गिरजा शंकर निरंजन , ग्राम पंचायत अधिकारी शुभम बाजपेई,तथा जनप्रतिनिधियों में ग्राम प्रधान नरेंद्र महांत, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि व जिला पंचायत सदस्य कुठौंद अनिरुद्ध कुमार दुबे उर्फ रामू दुबे ,अंकित पुरी के द्वारा पूरे गांव में भूसा दान के लिए ग्रामीणों को भूसा दान के लिए जागरूक किया गया तथा सहायता के रूप में भूसा दान देने के लिए कहा गया। जिससे बेचारी गाय इस भूसे से अपना भरण पोषण कर सकें और

प्रियंका निरंजन जिला अधिकारी जनपद जालौन

उनकी सांसे चलती रहे। क्योंकि हमारे भारतवासी तथा हिंदू धर्म के लोगों को गाय के लिए आस्था रखनी चाहिए ।क्योंकि गाय हमारी माता है। इसलिए हमारा आपका परम कर्तव्य बनता है ।कि जो कुछ बन पड़े प्रत्येक घर से भूसा दान के लिए आगे आएं। क्योंकि यह भूसा दान यात्रा पूरे प्रदेश में शासन द्वारा एक नई गाइडलाइंस तैयार की गई है। जिससे गायों को चारा उपलब्ध हो सके। इसका विशेष कारण भूसा कमी होने का एक ही नजरिया सामने दिखाई देता है वह है खेतों में कटाई करने के लिए हार्वेस्टर का प्रयोग हमारे किसानों के लिए भूसा की दैनीय स्थिति पैदा कर रहा है। क्योंकि गांव गांव में मनरेगा की मजदूरी के आगे मजदूर मिलना भी दुश्वार हो गया है। इसीलिए हार्वेस्टर के प्रयोग से भूसा की उत्पादन क्षमता कम हो गई है। किसानों को गेहूं का उत्पादन उपज प्राप्त हो जाती है। इसलिए किसान गण भूसे की तरह कतई ध्यान नहीं देते हैं। जिससे उसे की किल्ला से जूझना पड़ रहा है। कुछ समय पूर्व ट्रैक्टर द्वारा थ्रेसर से गेहूं की कटाई की जाती थी जिससे भूसा किसान लोगों के पास पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहता था। इसलिए शासन व प्रशासन को इस ओर नए नियमों का आदेश पारित कर घोषणा जारी की जानी चाहिए ताकि आगे भविष्य में भूसे की कोई किल्लत पैदा ना हो सके।

A2Z news UP के लिए जालौन से जिला क्राइम रिपोर्टर लवकेश सिह

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: