ख़बर सुनें

मैनपुरी। शहर के तंबाकू व्यवसायी ने किराना व्यापारी के एक करोड़ से भी अधिक रुपए हड़प लिए। पैसे वापस न मिलने पर व्यापारी ने आत्महत्या करने की धमकी दी है। कोतवाली पुलिस ने तंबाकू व्यवासायी व दो पुत्रों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जांच की शुरू ।
शहर के मोहल्ला दरीबा निवासी भगवान दयाल का शहर के प्रमुख किराना बाजार में भन्नू ड्राई फ्रूट के नाम से प्रतिष्ठान है। उनका व्यापार बजाजा बाजार की एक बड़ी कंपनी मोहन लाल राजकुमार एंड संस से होता है। इसके वर्तमान मालिक अनिल कुमार उर्फ सल्लू हैं। कुछ समय पूर्व उनका 70 लाख रुपए फर्म पर कर्ज हो गया था। कई बार अनिल से रुपए मांगें तो वह हीलाहवाली करते रहा। 10 जुलाई 2020 को संभ्रांत लोगों के साथ हुई पंचायत में अनिल ने माना 35 लाख रुपया उन पर और 35 लाख रुपया पुत्र अनुज के ऊपर है। उनकी पुत्री की शादी में 15 लाख रुपया देने व प्रतिमाह पांच लाख रुपया देने की बात पर सहमति दी। कुछ दिनों बाद 8.50 लाख रुपया उन्हें दे दिए गए ,लेकिन बाकी 61.50 लाख रुपया देने में फिर टाल मटोल शुरू कर दिया। उन्हें धमकी देना शुरू कर दिया, कोतवाली में शिकायत की तो इंस्पेक्टर ने बुलाकर बात की, वहां सहमति बन गई । कुछ समय बाद इंस्पेक्टर भानू प्रताप का स्थानांतरण हो गया। कई और शिकायतें की गईं, जिस पर अधिकारियों की ओर से रुपए दिलाए जाने का आश्वासन दिया गया। अनिल कुमार हाथ नहीं आ सका, 11 जून को एसपी को प्रार्थना पत्र दिया। अधिकारी के आश्वासन के बाद पुलिस भी गई लेकिन सल्लू नहीं मिला। वह अभी तक उक्त रुपये का ब्याज भर रहा है, ब्याज सहित रुपये करीब 1.78 करोड़ हो चुका है। उसके ऊपर भी झूठे मामले दर्ज करा दिए गए हैं। वह आए दिन के तगादों से परेशान है और अब आत्महत्या का रास्ता बचा है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर अनिल कुमार गुप्ता सल्लू उनके पुत्र अमित और अनुज के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

मैनपुरी। शहर के तंबाकू व्यवसायी ने किराना व्यापारी के एक करोड़ से भी अधिक रुपए हड़प लिए। पैसे वापस न मिलने पर व्यापारी ने आत्महत्या करने की धमकी दी है। कोतवाली पुलिस ने तंबाकू व्यवासायी व दो पुत्रों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जांच की शुरू ।

शहर के मोहल्ला दरीबा निवासी भगवान दयाल का शहर के प्रमुख किराना बाजार में भन्नू ड्राई फ्रूट के नाम से प्रतिष्ठान है। उनका व्यापार बजाजा बाजार की एक बड़ी कंपनी मोहन लाल राजकुमार एंड संस से होता है। इसके वर्तमान मालिक अनिल कुमार उर्फ सल्लू हैं। कुछ समय पूर्व उनका 70 लाख रुपए फर्म पर कर्ज हो गया था। कई बार अनिल से रुपए मांगें तो वह हीलाहवाली करते रहा। 10 जुलाई 2020 को संभ्रांत लोगों के साथ हुई पंचायत में अनिल ने माना 35 लाख रुपया उन पर और 35 लाख रुपया पुत्र अनुज के ऊपर है। उनकी पुत्री की शादी में 15 लाख रुपया देने व प्रतिमाह पांच लाख रुपया देने की बात पर सहमति दी। कुछ दिनों बाद 8.50 लाख रुपया उन्हें दे दिए गए ,लेकिन बाकी 61.50 लाख रुपया देने में फिर टाल मटोल शुरू कर दिया। उन्हें धमकी देना शुरू कर दिया, कोतवाली में शिकायत की तो इंस्पेक्टर ने बुलाकर बात की, वहां सहमति बन गई । कुछ समय बाद इंस्पेक्टर भानू प्रताप का स्थानांतरण हो गया। कई और शिकायतें की गईं, जिस पर अधिकारियों की ओर से रुपए दिलाए जाने का आश्वासन दिया गया। अनिल कुमार हाथ नहीं आ सका, 11 जून को एसपी को प्रार्थना पत्र दिया। अधिकारी के आश्वासन के बाद पुलिस भी गई लेकिन सल्लू नहीं मिला। वह अभी तक उक्त रुपये का ब्याज भर रहा है, ब्याज सहित रुपये करीब 1.78 करोड़ हो चुका है। उसके ऊपर भी झूठे मामले दर्ज करा दिए गए हैं। वह आए दिन के तगादों से परेशान है और अब आत्महत्या का रास्ता बचा है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर अनिल कुमार गुप्ता सल्लू उनके पुत्र अमित और अनुज के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: