ख़बर सुनें

अमेठी। तहसील परिसर में छुट्टा मवेशी को जलाने के प्रयास का वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासनिक अमला सक्रिय हो गया। अफसरों के निर्देश पर अमेठी पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार पर तहसील में वकीलों के साथ काम करने वाले दो मुंशी के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।
स्थानीय तहसील परिसर में शुक्रवार दोपहर दो छुट्टा गोवंश घुस गए। तहसील में मौजूद लोगों के अनुसार दोनों छुट्टा गोवंश की भागदौड़ में परिसर में खड़ी कई बाइक उसकी चपेट में आकर गिर गईं। दोनों को बाहर निकालने के लिए पहले लोगों ने उन्हें डंडे से मारा। इसके बाद डंडे मेें कपड़ा लपेटकर उसे जला दिया गया और जलते हुए लुकाड़े से गोवंश को जलाने का प्रयास किया गया।
इसका वीडियो तहसील में मौजूद कुछ लोगों ने बनाकर वायरल कर दिया। अफसरों ने वीडियो को संज्ञान में लेते हुए अमेठी पुलिस को कार्रवाई करने का निर्देश दिया। निर्देश मिलते ही अमेठी पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार व नायब नाजिर राजाराम सरोज की तहरीर पर पशु क्रूरता निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया।
वीडियो में घटना कर रहे दो लोगों की पहचान अलग-अलग अधिवक्ता के मुंशी संतोष कुमार तिवारी व रमेश यादव के रूप में हुई। पहचान होने के बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया है। एसएचओ अरुण कुमार द्विवेदी ने बताया कि गिरफ्तार दोनों आरोपियों के खिलाफ कड़ी विधिक कार्रवाई की जा रही है।

अमेठी। तहसील परिसर में छुट्टा मवेशी को जलाने के प्रयास का वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासनिक अमला सक्रिय हो गया। अफसरों के निर्देश पर अमेठी पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार पर तहसील में वकीलों के साथ काम करने वाले दो मुंशी के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

स्थानीय तहसील परिसर में शुक्रवार दोपहर दो छुट्टा गोवंश घुस गए। तहसील में मौजूद लोगों के अनुसार दोनों छुट्टा गोवंश की भागदौड़ में परिसर में खड़ी कई बाइक उसकी चपेट में आकर गिर गईं। दोनों को बाहर निकालने के लिए पहले लोगों ने उन्हें डंडे से मारा। इसके बाद डंडे मेें कपड़ा लपेटकर उसे जला दिया गया और जलते हुए लुकाड़े से गोवंश को जलाने का प्रयास किया गया।

इसका वीडियो तहसील में मौजूद कुछ लोगों ने बनाकर वायरल कर दिया। अफसरों ने वीडियो को संज्ञान में लेते हुए अमेठी पुलिस को कार्रवाई करने का निर्देश दिया। निर्देश मिलते ही अमेठी पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार व नायब नाजिर राजाराम सरोज की तहरीर पर पशु क्रूरता निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया।

वीडियो में घटना कर रहे दो लोगों की पहचान अलग-अलग अधिवक्ता के मुंशी संतोष कुमार तिवारी व रमेश यादव के रूप में हुई। पहचान होने के बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया है। एसएचओ अरुण कुमार द्विवेदी ने बताया कि गिरफ्तार दोनों आरोपियों के खिलाफ कड़ी विधिक कार्रवाई की जा रही है।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: