ख़बर सुनें

मैनपुरी। जिले में बुखार और सांस के मरीजों की दिक्कतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। शुक्रवार को बुखार से पीड़ित एक महिला और सांस की दिक्कत से एक वृद्ध की मौत हो गई। जिला अस्पताल की ओपीडी में 1041 मरीजों को प्राथमिक उपचार दिया गया।
जिला अस्पताल में शुक्रवार को ओपीडी में 436 पुरुष और 505 महिला मरीजों को उपचार दिया गया। 17 मरीज गंभीर हालत में भर्ती कराए गए। सात मरीजों को मेडिकल कॉलेज सैफई के लिए रेफर कर दिया गया। दन्नाहार थाना क्षेत्र के गांव डूंडीबरी निवासी महिपाल सिंह की पत्नी सरला देवी (55) को पिछले कुछ दिनों से बुखार आ रहा था। परिजन उनका एक निजी डॉक्टर के यहां उपचार करा रहे थे। शुक्रवार को हालत बिगड़ने पर परिजन उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंचे यहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। भोगांव थाना क्षेत्र के गांव नगला लऊ निवासी बांकेलाल (70) को पिछले कुछ दिनों से सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। परिजन उनका एक निजी डॉक्टर के यहां उपचार करा रहे थे। शुक्रवार को हालत बिगड़ने पर परिजन उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंचे यहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सीएमएस डॉ. मदनलाल ने बताया कि दोनों मरीजों को मृत अवस्था में लाया गया था।

मैनपुरी। जिले में बुखार और सांस के मरीजों की दिक्कतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। शुक्रवार को बुखार से पीड़ित एक महिला और सांस की दिक्कत से एक वृद्ध की मौत हो गई। जिला अस्पताल की ओपीडी में 1041 मरीजों को प्राथमिक उपचार दिया गया।

जिला अस्पताल में शुक्रवार को ओपीडी में 436 पुरुष और 505 महिला मरीजों को उपचार दिया गया। 17 मरीज गंभीर हालत में भर्ती कराए गए। सात मरीजों को मेडिकल कॉलेज सैफई के लिए रेफर कर दिया गया। दन्नाहार थाना क्षेत्र के गांव डूंडीबरी निवासी महिपाल सिंह की पत्नी सरला देवी (55) को पिछले कुछ दिनों से बुखार आ रहा था। परिजन उनका एक निजी डॉक्टर के यहां उपचार करा रहे थे। शुक्रवार को हालत बिगड़ने पर परिजन उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंचे यहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। भोगांव थाना क्षेत्र के गांव नगला लऊ निवासी बांकेलाल (70) को पिछले कुछ दिनों से सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। परिजन उनका एक निजी डॉक्टर के यहां उपचार करा रहे थे। शुक्रवार को हालत बिगड़ने पर परिजन उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंचे यहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सीएमएस डॉ. मदनलाल ने बताया कि दोनों मरीजों को मृत अवस्था में लाया गया था।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: