सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

मथुरा में देवोत्थान पर परिक्रमा करने आईं दिल्ली के मंगोलपुरी की रहने वाली दो महिलाओं की भूतेश्वर सब रेलवे स्टेशन के निकट ट्रेन से कटकर मौत हो गई। दोनों ननद-भाभी थी। दोनों का प्रेम इतना गहरा था कि दोनों एक-दूसरे के हर दुख-सुख में काम आती थीं। यही कारण था कि दिल्ली के मंगोलपुरी की सभी महिलाएं मथुरा में परिक्रमा करने आईं तो ननद प्रेमलता भी भाभी बैजयंती के साथ आई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ननद एक बारगी प्लेटफार्म पर चढ़ गई थी, लेकिन जब उसने देखा कि भाभी नहीं चढ़ पा रहीं तो वह उन्हें ऊपर चढ़ाने के लिए नीचे उतर गई। इसी दौरान दिल्ली की ओर से आती दक्षिण एक्सप्रेस ने दोनों को चपेट में ले लिया।

करीब दस महिलाओं का एक समूह शनिवार को मंगोलपुरी, दिल्ली से मथुरा परिक्रमा को आया था। सभी महिलाएं पलवल एक्सप्रेस से दिल्ली से मथुरा आईं। जंक्शन पर उतरकर परिक्रमा प्रारंभ ही की थी। इसी बीच हादसा हो गया। मौके पर पहुंचे कोसीकलां जीआरपी प्रभारी धर्मेन्द्र कुमार ने बताया कि कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने घटना की जानकारी दी थी। सुबह सात बजे करीब परिजन शव को पोस्टमार्टम कराकर ले गए।

दोनों महिलाएं ब्रिज की सीढ़ी नहीं चढ़ सकीं

दोनों महिलाओं ने ओवर ब्रिज पार करने के लिए ओवर ब्रिज की कुछ सीढ़ियां चढ़ीं भी परंतु जब वह सीढ़ियां नहीं चढ़ सकीं तो वापस आ गईं और फिर पटरी पार करने लगीं। प्रेमलता के पति पवन कुमार व बैजयंती के पुत्र सुनील भी मौके पर आ गए थे। दोनों ने बताया कि उन्हें रात में करीब डेढ़ बजे साथ आई एक महिला ने फोन करके जानकारी दी थी।

परिक्रमा के दौरान नहीं रखी सतर्कता

केवल भूतेश्वर स्टेशन पर ही नहीं बल्कि मथुरा वृंदावन परिक्रमा मार्ग में जहां-जहां रेलवे लाइन पड़ती है, वहां पर रेलवे ने या फिर पुलिस ने परिक्रमार्थियों को रेलवे लाइन से बचाने के लिए कोई सतर्कता नहीं बरती। परिक्रमा दो स्थानों पर मथुरा-वृंदावन के बीच रेलवे लाइन को भी पार कर रही है तथा इसके अलावा भूतेश्वर स्टेशन तथा अन्य स्थानों पर भी परिक्रमार्थियों ने रेलवे लाइन पार की हैं।

विस्तार

मथुरा में देवोत्थान पर परिक्रमा करने आईं दिल्ली के मंगोलपुरी की रहने वाली दो महिलाओं की भूतेश्वर सब रेलवे स्टेशन के निकट ट्रेन से कटकर मौत हो गई। दोनों ननद-भाभी थी। दोनों का प्रेम इतना गहरा था कि दोनों एक-दूसरे के हर दुख-सुख में काम आती थीं। यही कारण था कि दिल्ली के मंगोलपुरी की सभी महिलाएं मथुरा में परिक्रमा करने आईं तो ननद प्रेमलता भी भाभी बैजयंती के साथ आई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ननद एक बारगी प्लेटफार्म पर चढ़ गई थी, लेकिन जब उसने देखा कि भाभी नहीं चढ़ पा रहीं तो वह उन्हें ऊपर चढ़ाने के लिए नीचे उतर गई। इसी दौरान दिल्ली की ओर से आती दक्षिण एक्सप्रेस ने दोनों को चपेट में ले लिया।

करीब दस महिलाओं का एक समूह शनिवार को मंगोलपुरी, दिल्ली से मथुरा परिक्रमा को आया था। सभी महिलाएं पलवल एक्सप्रेस से दिल्ली से मथुरा आईं। जंक्शन पर उतरकर परिक्रमा प्रारंभ ही की थी। इसी बीच हादसा हो गया। मौके पर पहुंचे कोसीकलां जीआरपी प्रभारी धर्मेन्द्र कुमार ने बताया कि कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने घटना की जानकारी दी थी। सुबह सात बजे करीब परिजन शव को पोस्टमार्टम कराकर ले गए।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: