उत्तर प्रदेश जालौन

तहसील नाजिर की साजिश के तहत स्टाम्प बिक्रेताओं के बस्ते फिकवाये

० वकील एवं स्टाम्प बिक्रेताओं ने लगाया नाजिर पर धमकी देने का आरोप

उरई (जालौन)(गोविंद सिंह दाऊ):- । जिला मुख्यालय स्थित उरई तहसील के सदर नाजिर की साजिश के तहत तहसील परिसर में कई सालों से बैठने वाले अधिवक्ता व स्टाम्प बिक्रेताओं के बस्तों को रातों-रात अराजकतत्वों द्वारा फिकवा दिया गया जिससे अधिवक्ताओं और स्टम्प बिक्रेताओं में नाजिर के आक्रोश दिखाई दे रहा है।उक्त लोगों का आरोप है कि तहसील नाजिर भानु ने तीन दिन पहले बस्ते हटाये जाने की धमकी भी दी थी।
उरई सदर तहसील परिसर में बैठने वाले अधिवक्ता दीनदयाल वर्मा, अरविंद कुमार एडवोकेट, सीताराम एडवोकेट, राजू स्टाम्प बिक्रेता, बाबूराम पांचाल स्टाम बिक्रेता आदि ने आरोप लगाते हुए बताया कि सदर तहसील के नाजिर भानु ने तीन दिन पहले हम लोगों को बुलाकर धमकी दी थी कि अपने-अपने बस्ते परिसर के अंदर से हटा लें। इसके बाद शनिवार की रात्रि तहसील नाजिर भानु ने अराजकतत्वों के माध्यम से उनके ठिकानों को तहस-नहस करवा दिया। उक्त लोगों का कहना कि वह लोग कई सालों से तहसील परिसर के अंदर बैठकर काम करते आ रहे है। इसके बाद तहसील नाजिर भानु की तानाशाही के चलते उन्हें परेशान किया जा रहा है। उक्त लोगों का कहना कि इस सम्बंध में जब तहसीलदार श्रीराम यादव को जानकारी दी गयी तो उनका कहना था कि हमारी ओर से किसी को भी हटाये जाने का नाजिर को आदेश नहीं दिया गया है।