ख़बर सुनें

कदौरा। स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 के अंतर्गत वार्ड स्वच्छता प्रतियोगिता शुरू हो चुकी है। निर्धारित मानकों को पूरा करने वाले पहले तीन वार्डों को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार दिए जाएंगे। प्रतियोगिता 30 अक्तूबर से शुरू हो चुकी है और जनवरी 2023 तक चलेगी।
नगर पंचायत के प्रभारी ईओ पवन किशोर ने सफाई कर्मियों से अपने-अपने वार्डों को नंबर वन बनाने के लिए विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि शासन ने प्रतियोगिता में वार्डों के चयन के लिए कई मानक रखे हैं।
इसमें सफाई व्यवस्था, ओडीएफ स्टेटस, सामुदायिक व सार्वजनिक शौचालयों का रखरखाव के बिंदु भी शामिल हैं। साथ ही डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन, कूड़े का पृथक्करण और निस्तारण, प्रतिबंधित पॉलीथिन के उपयोग को रोकने के लिए क्रियान्वयन, कूड़ा प्रबंधन और उसे कूड़ा निस्तारण केंद्र तक पहुंचाने की व्यवस्था पर भी गौर किया जाएगा। इसके अलावा सड़कों, बाजारों, व्यवसायिक स्थानों की सफाई तथा शौचालयों की सफाई, वॉल पेंटिंग, पौधारोपण आदि बिंदु भी शामिल हैं।
उन्होंने बताया कि निर्धारित मानकों के आधार पर वार्डों को नंबर दिए जाएंगे। इन नंबरों के आधार पर पहले तीन वार्डों को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार दिए जाएंगे। उन्होंने सफाई नायकों व कर्मियों से कहा कि वे वार्डों में कूड़े के गैरजरूरी स्थानों को समाप्त कर उन स्थानों का सुंदरीकरण करने के प्रस्ताव दें।
प्रतिदिन वार्डों में शौचालयों की सफाई आदि की स्थिति का जायजा लें। चेयरमैन मोहम्मद जमीर आलम ने कहा कि अपने-अपने वार्डों को नंबर वन लाने के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। वार्ड चयन के लिए जो मानक रखे गए हैं। इनका भरपूर प्रयास किया जाएगा।

कदौरा। स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 के अंतर्गत वार्ड स्वच्छता प्रतियोगिता शुरू हो चुकी है। निर्धारित मानकों को पूरा करने वाले पहले तीन वार्डों को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार दिए जाएंगे। प्रतियोगिता 30 अक्तूबर से शुरू हो चुकी है और जनवरी 2023 तक चलेगी।

नगर पंचायत के प्रभारी ईओ पवन किशोर ने सफाई कर्मियों से अपने-अपने वार्डों को नंबर वन बनाने के लिए विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि शासन ने प्रतियोगिता में वार्डों के चयन के लिए कई मानक रखे हैं।

इसमें सफाई व्यवस्था, ओडीएफ स्टेटस, सामुदायिक व सार्वजनिक शौचालयों का रखरखाव के बिंदु भी शामिल हैं। साथ ही डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन, कूड़े का पृथक्करण और निस्तारण, प्रतिबंधित पॉलीथिन के उपयोग को रोकने के लिए क्रियान्वयन, कूड़ा प्रबंधन और उसे कूड़ा निस्तारण केंद्र तक पहुंचाने की व्यवस्था पर भी गौर किया जाएगा। इसके अलावा सड़कों, बाजारों, व्यवसायिक स्थानों की सफाई तथा शौचालयों की सफाई, वॉल पेंटिंग, पौधारोपण आदि बिंदु भी शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि निर्धारित मानकों के आधार पर वार्डों को नंबर दिए जाएंगे। इन नंबरों के आधार पर पहले तीन वार्डों को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार दिए जाएंगे। उन्होंने सफाई नायकों व कर्मियों से कहा कि वे वार्डों में कूड़े के गैरजरूरी स्थानों को समाप्त कर उन स्थानों का सुंदरीकरण करने के प्रस्ताव दें।

प्रतिदिन वार्डों में शौचालयों की सफाई आदि की स्थिति का जायजा लें। चेयरमैन मोहम्मद जमीर आलम ने कहा कि अपने-अपने वार्डों को नंबर वन लाने के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। वार्ड चयन के लिए जो मानक रखे गए हैं। इनका भरपूर प्रयास किया जाएगा।





Source link

0Shares

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: