ख़बर सुनें

मैनपुरी के ज्योति नगर पंचायत में पॉलिथिन की जांच करने पहुंचे बाबू को महंगा पड़ गया। दरअसल बाबू ने सब्जी विक्रेता के बच्चे को थप्पड़ जड़ दिया। एक अन्य दुकानदार के साथ अभद्रता कर डाली। इसके बाद आक्रोशित व्यापारियों को देखकर बाबू वहां से भाग निकला। व्यापारियों ने मामले की शिकायत पुलिस से की है।

ये है मामला 

शुक्रवार को नगर पंचायत के प्रधान लिपिक नीरज कुमार पॉलिथीन की जांच के लिए कस्बा में पहुंचे। यहां सब्जी विक्रेता सर्वेश कुमार के यहां पर एक पॉलिथीन का पैकेट मिला। यहां सब्जी बेच रहे सर्वेश के पुत्र के प्रधान के लिपिक ने थप्पड़ जड़ दिया। बच्चे के थप्पड़ मारने से आसपास के व्यापारी आक्रोशित हो गए। प्रधान लिपिक यहां से दुकानदार राजकुमार की दुकान पर पहुंचे। यहां पॉलिथीन ना मिलने पर उन्होंने गुल्लक में हाथ डाल दिया। इस पर राजकुमार ने नाराजगी प्रकट की तो प्रधान लिपिक ने उसके साथ अभद्रता कर दी। इसके बाद व्यापारी एकत्रित हो गए और नारेबाजी करने लगे।

व्यापारियों में फैला आक्रोश 

व्यापारियों को आक्रोशित देखकर नीरज मौके से चले गए। आक्रोशित व्यापारी नगर पंचायत कार्यालय पर पहुंचे तो बाबू वहां से जा चुके थे। आक्रोशित व्यापारियों ने बच्चे को पीटने और अन्य व्यापारियों से अभद्रता की तहरीर देते हुए व्यापारी पर आरोप लगाए। व्यापारियों का कहना था कि यदि प्रधान लिपिक के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती है तो वे लोग दो दिन बाद धरना प्रदर्शन करेंगे।

ये रहे मौजूद 

 इस मौके पर अंकुश, महेश चंद्र, राजेश कुमार, मुकेश कुमार, चिंतामणि, राहुल कुमार, अनिल, शैलेंद्र, देवेंद्र, शिवानंद, सत्य प्रकाश, रवि, मयंक, तन्मय मौजूद रहे।

ये बोले जिम्मेदार 

ज्योंती नगर पंचायत के प्रधान लिपिक नीरज कुमार ने बताया कि मामला पुलिस तक पहुंच गया है। पुलिस मामले की जांच करेगी। मुझे इसमें कुछ नहीं कहना है। नगर पंचायत ज्योती के ईओ सुरभि पांडेय ने कहा कि लिपिक पॉलिथीन की जांच के लिए गया था। उस पर जो आरोप लगाए गए हैं वो झूठे हैं। सरकार के आदेश पर पॉलिथीन की रोकथाम के लिए समय-समय पर चेकिंग की जाती है।

विस्तार

मैनपुरी के ज्योति नगर पंचायत में पॉलिथिन की जांच करने पहुंचे बाबू को महंगा पड़ गया। दरअसल बाबू ने सब्जी विक्रेता के बच्चे को थप्पड़ जड़ दिया। एक अन्य दुकानदार के साथ अभद्रता कर डाली। इसके बाद आक्रोशित व्यापारियों को देखकर बाबू वहां से भाग निकला। व्यापारियों ने मामले की शिकायत पुलिस से की है।


ये है मामला 

शुक्रवार को नगर पंचायत के प्रधान लिपिक नीरज कुमार पॉलिथीन की जांच के लिए कस्बा में पहुंचे। यहां सब्जी विक्रेता सर्वेश कुमार के यहां पर एक पॉलिथीन का पैकेट मिला। यहां सब्जी बेच रहे सर्वेश के पुत्र के प्रधान के लिपिक ने थप्पड़ जड़ दिया। बच्चे के थप्पड़ मारने से आसपास के व्यापारी आक्रोशित हो गए। प्रधान लिपिक यहां से दुकानदार राजकुमार की दुकान पर पहुंचे। यहां पॉलिथीन ना मिलने पर उन्होंने गुल्लक में हाथ डाल दिया। इस पर राजकुमार ने नाराजगी प्रकट की तो प्रधान लिपिक ने उसके साथ अभद्रता कर दी। इसके बाद व्यापारी एकत्रित हो गए और नारेबाजी करने लगे।

व्यापारियों में फैला आक्रोश 

व्यापारियों को आक्रोशित देखकर नीरज मौके से चले गए। आक्रोशित व्यापारी नगर पंचायत कार्यालय पर पहुंचे तो बाबू वहां से जा चुके थे। आक्रोशित व्यापारियों ने बच्चे को पीटने और अन्य व्यापारियों से अभद्रता की तहरीर देते हुए व्यापारी पर आरोप लगाए। व्यापारियों का कहना था कि यदि प्रधान लिपिक के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती है तो वे लोग दो दिन बाद धरना प्रदर्शन करेंगे।

ये रहे मौजूद 

 इस मौके पर अंकुश, महेश चंद्र, राजेश कुमार, मुकेश कुमार, चिंतामणि, राहुल कुमार, अनिल, शैलेंद्र, देवेंद्र, शिवानंद, सत्य प्रकाश, रवि, मयंक, तन्मय मौजूद रहे।

ये बोले जिम्मेदार 

ज्योंती नगर पंचायत के प्रधान लिपिक नीरज कुमार ने बताया कि मामला पुलिस तक पहुंच गया है। पुलिस मामले की जांच करेगी। मुझे इसमें कुछ नहीं कहना है। नगर पंचायत ज्योती के ईओ सुरभि पांडेय ने कहा कि लिपिक पॉलिथीन की जांच के लिए गया था। उस पर जो आरोप लगाए गए हैं वो झूठे हैं। सरकार के आदेश पर पॉलिथीन की रोकथाम के लिए समय-समय पर चेकिंग की जाती है।



Source link

0Shares

Leave a Reply

%d bloggers like this: