उरई। एमएलसी चुनाव में भाजपा की हार तय है। क्योंकि शिक्षित बेरोजगार मतदाता भाजपा सरकार की वादाखिलाफी से नाराज है और वह भाजपा का विरोध करेंगे। छह साल में वित्तविहीन शिक्षकों को भाजपा सरकार के रवैये से निराशा हाथ लगी है। उन्हें छह साल में मानदेय नहीं मिला है। सपा सरकार ने जो मानदेय देने का काम किया था। उसे भी बंद कर दिाय गया। यह बात सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने पत्रकारों से वार्ता में कही। यह बात एक निजी कार्यक्रम में शुक्रवार को जिले में आए थे।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने अभी तक पुरानी पेंशन बहाली की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया है। सपा की जब भी सरकार आएगी। पुरानी पेंशन देने का काम करेंगे। उन्होंने वरुण गांधी के सपा में शामिल होने के सवाल पर अनभिज्ञता जताई। उन्होंने कहा कि जिले में जो भी सपा के नेता नाराज चल रहे है, उन्हें मनाने का काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि सपा किसी नए दल से गठबंधन नहीं करेगी। हालांकि जो पुराने गठबंधन के साथ है, उनके साथ मजबूती से भाजपा के खिलाफ लड़ेंगे। वह सपा नेता व वरिष्ठ अधिवक्ता कमर अहमद के बेटे नूर मुहम्मद भुल्लन से मिले और उन्हें संवेदना देकर ढांढस बंधाया। इस दौरान शबीउद्दीन, तारिक, समर काजी, समर सिंह गुड्डू महेबा आदि मौजूद रहे।



Source link

0Shares

Leave a Reply

ताज़ा ख़बरें

%d bloggers like this: