झांसी। हर मोहल्ले से जुड़ा होने के नाते नगर निकाय चुनाव काफी दिलचस्प होता है लेकिन, पिछले चुनाव के आंकड़े गवाही देते हैं कि वोटिंग के मामले में झांसी नगर निगम पूरे जनपद में सबसे फिसड्डी साबित हुआ था। अन्य निकायों में जहां 82-75 प्रतिशत मतदान हुआ वहीं, नगर निगम के लिए सिर्फ 52 प्रतिशत लोगों ने ही मतदान किया। इस वजह से महापौर उम्मीदवार महज 18.42 प्रतिशत वोट हासिल करके जीत हासिल करने में कामयाब रहे।

वर्ष 2017 में हुए निकाय चुनाव के दौरान महापौर पद के लिए भाजपा उम्मीदवार रामतीर्थ सिंघल ने मतदान में हिस्सा लेने वाले वोटरों के 18.42 फीसदी वोट हासिल किए थे। उस चुनाव में झांसी में कुल 418545 मतदाता थे। इनमें से महज 218428 मतदाताओं ने मतदान किया। दो वोट खारिज हो गए जबकि 893 वोट नोटा को चले गए। भाजपा उम्मीदवार रामतीर्थ ने 77090 वोट हासिल किए जो कुल मतदाताओं का महज 18.42 प्रतिशत था। हालांकि वह इतने मत पाकर भी अपनी जमानत बचाने में कामयाब रहे और विजयी हुए जबकि बसपा उम्मीदवार बृजेंद्र कुमार व्यास 14.5 प्रतिशत, कांग्रेस के प्रदीप जैन आदित्य 8.63 प्रतिशत, सपा के राहुल सक्सेना ने 3.42 प्रतिशत, आप के नरेंद्र झा ने 1.74 प्रतिशत वोट ही हासिल कर सके। वहीं, जनपद के अन्य सभी निकायों में साठ प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ।

नगर निगम में मतदान प्रतिशत बढ़ाना अफसरों के लिए चुनौती

चार मई को झांसी में वोट डाला जाएगा। पिछली बार साठ प्रतिशत वोटिंग नहीं हो सकी थी। इस वजह से मतदान प्रतिशत बढ़ाना अफसरों के सामने सबसे बड़ी चुनौती होगी। राज्य चुनाव आयोग ने भी मतदान प्रतिशत बढ़ाने के उपाय के निर्देश दिए हैं। मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए पांच दिन पहले से ही मतदाताओं तक मतदाता पर्ची पहुंचाने की कवायद शुरू की गई है। इससे मतदाता बिना परेशान हुए बूथ तक पहुंच सके। इसके साथ ही माॅडल बूथ भी बनाया जाएगा।

एक नजर में पिछले चुनाव का वोटिंग प्रतिशत

नगर निगम- 52.07

गुरसराय- 69.13

चिरगांव- 72.02

बरुआसागर- 77.74

मऊरानीपुर- 62.82

समथर- 68.8

एरच-81.58

कटेरा- 71.46

गरौठा- 71.3

टोड़ीफतेहपुर- 74.51

बड़ागांव- 82.82

मोंठ- 69.14

रानीपुर- 70.92



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ब्रेकिंग न्यूज