[ad_1]

Mayawati meeting with party members on not getting seats in Karnataka.

बसपा सुप्रीमो मायावती।
– फोटो : amar ujala

विस्तार

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कर्नाटक चुनाव में एक भी सीट न मिलने पर नाराजगी जाहिर करते हुए वरिष्ठ पदाधिकारियों के पेंच कसे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक राज्य में हमारी तैयारी ऐसी हो कि चुनाव में चाहे जिस पार्टी का माहौल हो पर बसपा की स्थिति अच्छी रहनी चाहिए। कहा कि सत्ता मिलने पर दलित व मुस्लिम को दरकिनार करना कांग्रेस की पुरानी आदत है। वह मंगलवार को प्रदेश कार्यालय में समीक्षा बैठक ले रही थीं।

मायावती ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव में पार्टी स्तर से रहीं कमियों की तरफ ध्यान दिलाया और पदाधिकारियों को काडर मजबूत कर जनाधार बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि खासकर दलित व मुस्लिम समाज को सत्ता में अपनी उचित भागीदारी और राजनीतिक भविष्य को लेकर काफी सजग रहने की जरूरत है।

ये भी पढ़ें – सिविल सेवा में जोरदार लखनउवा पंच: प्रशासनिक सेवाओं में सफल होने वाले इन होनहारों ने सुनाई अपनी सक्सेस स्टोरी

ये भी पढ़ें – अखिलेश यादव बोले, लोकसभा चुनाव पर पड़ेगा कर्नाटक में भाजपा की हार का असर

कर्नाटक में इन वर्गों ने एकजुट होकर कांग्रेस को जिताया किंतु सरकार बनते ही हमेशा की तरह इनकी उपेक्षा की गई। इस वर्ग से सीएम बनाया और न ही डिप्टी सीएम। दरअसल, कर्नाटक में बसपा ने 133 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे, लेकिन उसे एक भी सीट नहीं मिली, जबकि 2018 में उसे एक सीट पर भी जीत हासिल हुई थी।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *